21वां राष्ट्रमंडल खेल – गोल्ड कोस्ट ऑस्ट्रेलिया

21वां राष्ट्रमंडल खेल 2018 (कॉमनवेल्थ गेम्स) का 15 अप्रैल को समापन हो गया. इस खेल प्रतिस्पर्धा में 71 राष्ट्रमण्डल देशों के लगभग 6,600 खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया. इसके कुल 20 खेलों में 275 पदक स्पर्धाएं हुईं.

इन खेलों में मेजबान ऑस्ट्रेलिया कुल 198 पदकों के साथ पदक तालिका में पहले स्थान पर रहा. उसने 80 स्वर्ण, 59 रजत और 59 कांस्य पदक जीते. इंग्लैंड ने 136 पदकों के साथ दूसरा और भारत ने 26 स्वर्ण, 20 रजत और 20 कांस्य सहित कुल 66 पदकों के साथ तीसरा स्थान हासिल किया.

21वें राष्‍ट्रमण्‍डल खेल का आयोजन स्थल

21वां राष्ट्रमंडल खेल ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में 4 से 15 अप्रैल 2018 तक आयोजित किया गया. इस शहर ने श्रीलंका के हम्बानटोटो को मात देकर यह मेजबानी हासिल की थी. ऑस्ट्रेलिया ने पांचवी बार, राष्ट्रमंडल खेलों की मेजबानी किया है. इससे पहले इस देश ने 1938 में सिडनी, 1962 में पर्थ, 1982 में ब्रिस्बेन और 2006 में मेलबर्न में इन खेलों का आयोजन किया था. राष्ट्रमंडल खेल महासंघ की अध्यक्ष लुईस मार्टिन की अध्यक्षता में ये खेल आयोजित किये गये.
उल्लेखनीय है कि 22वां राष्ट्रमंडल खेल बर्मिंघम में वर्ष 2022 में खेला जायेगा. वर्ष 2010 में 19वें राष्ट्रमंडल खेलों का आयोजन भारत की राजधानी नई दिल्ली में हुआ था.

खेले गये खेल प्रतियोगिताएं

21वें राष्‍ट्रमण्‍डल खेलों में निम्न 20 खेल प्रतियोगिताएं हुई:
एथलेटिक्स, बैडमिंटन, बास्केटबॉल, बीच वॉलीबॉल, मुक्केबाजी, साइक्लिंग, डाईविंग, जिमनास्टिक्स, हॉकी, लॉन बाउल्स, नेटबॉल, पॉवरलिफ्टिंग, रग्बी सेवेंस, निशानेबाजी, स्क्वॉश, तैराकी, टेबल टेनिस, ट्राईथलन, भारोत्तोलन और कुश्ती.

21वें राष्‍ट्रमण्‍डल खेलों के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी

राष्ट्रमंडल खेल महासंघ की अध्यक्ष लुईस मार्टिन ने 21वें राष्ट्रमंडल खेलों के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी का पुरस्कार न्यूजीलैंउ के भारोत्तोलक डेविड लिती को दिया. डेविड लिती ने पुरुषों के 105 से अधिक किलोग्राम भारवर्ग में गेम रिकार्ड के साथ स्वर्ण पदक जीता था.

21वें राष्‍ट्रमण्‍डल खेलों में भारत

21वें राष्‍ट्रमण्‍डल खेल में भारत के 221 एथलीट ने कुल 17 खेल प्रतियोगिताओं में हिस्सा लिया. इन खेलों के उद्घाटन समारोह के दौरान भारतीय दल की अगुआई और ध्वजवाहन बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधू ने किया जबकि एमसी मैरी कॉम समापन समारोह में भारत की ध्वजवाहक बनीं.

गोल्ड कोस्ट राष्ट्रमंडल खेल 2018 के उद्घाटन समारोह में पहली बार भारतीय महिलाएं साड़ी के बजाय कोट-पैंट में उतरा. भारतीय ओलंपिक संघ ने फरवरी 2018 के महीने में यह फ़ैसला लिया था कि भारतीय महिलाएं पुरुषों के समान ही कोट-पैंट में उद्घाटन समारोह में हिस्सा लेंगी.

21वें राष्‍ट्रमण्‍डल खेलों में भारत का प्रदर्शन

First gold medal in 21th commonwealth gemes Mirabai Chanu

भारत ने इन खेलों में 26 स्वर्ण, 20 रजत और 20 कांस्य समेत कुल 66 पदक जीते। वर्ष 2014 ग्लास्गो राष्ट्रमंडल खेल में जीते 64 पदकों से इस बार भारतीय दल का प्रदर्शन बेहतर रहा। गोल्ड कोस्ट में भारतीय दल ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बाद तीसरे पायदान पर रहा। उल्लेखनीय है कि भारत ने दिल्ली राष्ट्रमंडल खेलों में कुल 101 पदक जीते थे। वहीं 2002 के मैनचेस्टर खेलों में कुल 69 पदक मिले थे।
भारत ने चौथे स्थान पर रहे कनाडा (82 पदक) से कम पदक जीते लेकिन उसके स्वर्ण पदकों की संख्या कनाडा से अधिक रही. कनाडा ने 15 स्वर्ण जीते जबकि भारत के नाम 26 स्वर्ण रहे.

निशानेबाजी (शूटिंग)

भारतीय निशानेबाजों ने शूटिंग में 7 स्वर्ण, 4 रजत, 5 कांस्य समेत कुल 16 पदक जीते। भारतीय शूटर अनीष भानवाल ने पुरुषों की 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल स्पर्धा में का स्वर्ण पदक जीतकर इतिहास रचा दिया. सिर्फ 15 साल के अनीष कॉमनवेल्थ गेम्स में सबसे कम उम्र में गोल्ड मेडल जीतने वाले भारतीय हैं. उन्होंने इस स्पर्धा में रेकॉर्ड 30 अंक हासिल किया. उन्होंने ग्लाग्सो-2014 में आयोजित कॉमनवेल्थ गेम्स में ऑस्ट्रेलिया के डेविड चापमान की ओर से बनाए रेकॉर्ड को तोड़ दिया. अनीष ने कॉमनवेल्थ गेम्स में सबसे कम उम्र में गोल्ड मेडल जीतने का मनु भाकर का रेकॉर्ड भी तोड़ा. 16 वर्षीय मनु ने इस बार ही गोल्ड जीतकर रेकॉर्ड बनाया था.

खिलाड़ीस्पर्धापदक
मनु भाकरमहिलाओं की 10 मीटर एयर पिस्‍टलस्‍वर्ण
जीतू रायपुरुषों की 10 मीयर एयर पिस्टलस्‍वर्ण
हिना सिद्धूमहिलाओं के 25 मीटर पिस्टलस्‍वर्ण
श्रेयसी सिंहमहिलाओं की डबल ट्रैपस्‍वर्ण
अनीष भानवालपुरुषों की 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टलस्वर्ण
संजीव राजपूतपुरुषों की 50 मीटर राइफल थ्री पोजिशनस्वर्ण
तेजस्विनी सावंतमहिलाओं की महिलाओं के 50 मीटर राइफलस्वर्ण
हिना सिद्धूमहिलाओं की 10 मीटर एयर पिस्‍टलरजत
मेहुली घोषमहिलाओं की 10 मीटर एयर राइफलरजत
तेजस्विनी सावंतमहिलाओं की 50 मीटर राइफल प्रोनरजत
अंजुम मुद्गलमहिलाओं की 50 मीटर राइफल थ्री पोजिशनरजत
रवि कुमारपुरुषों की 10 मीटर राइफलकांस्य
ओम मिथरवालपुरुषों की 10 मीटर एयर पिस्टलकांस्य
अंकुर मित्तलपुरुषों की डबल ट्रैपकांस्य
ओम मिथरवाल50 मीटर एयर पिस्‍टलकांस्य
अपूर्वी चंदेलामहिलाओं की 10 मीटर एयर राइफलकांस्य

भारोत्तोलन (वेटलिफ्टिंग)

भारत ने वेटलिफ्टिंग और पैरा-पॉवरलिफ्टिंग में कुल 10 पदक जीते। इसमें 5 स्वर्ण, 2 रजत और 3 कांस्य पदक शामिल हैं। सतीश कुमार सिवलिंगम ने 77 किलोग्राम भार वर्ग में स्‍वर्ण जीता. वह लगातार 2 राष्ट्रमण्डल खेलों – ग्लासगो 2014 और गोल्ड कोस्ट 2018 में स्वर्ण पदक जीत कर उन्होंने इतिहास रचा है.

पैरा पावरलिफ्टर सचिन चौधरी ने हेवीवेट फाइनल में कांस्य पदक जीतकर राष्ट्रमंडल खेलों में पैरा-स्पोर्ट्स में भारत को पहला पदक दिलाया.

खिलाड़ीस्पर्धापदक
मीराबाई चानूमहिलाओं की 48 किग्रा भार वर्गस्वर्ण
संजीता चानूमहिलाओं की 53 किलोग्राम भारवर्गस्वर्ण
सतीश कुमार सिवलिंगमपुरुषों की 77 किलोग्राम भार वर्गस्‍वर्ण
आर वेंकेट राहुलपुरुषों की 85 किलोग्राम भार वर्गस्‍वर्ण
पूनम यादवमहिलाओं की 69 किलोग्राम भार वर्गस्‍वर्ण
गुरूराजापुरुषों की 56 किलोग्राम भार वर्गरजत
प्रदीप सिंहपुरुषों की 105 भार वर्ग मेंरजत
दीपक लाठेरपुरुषों की 69 किग्रा भार वर्गकांस्य
विकास ठाकुरपुरुषों के 94 किग्रा भार वर्गकांस्य
सचिन चौधरी (पैरा लिफ्टर)पुरुषों के हेवीवेटकांस्य

कुश्ती (रेसलिंग)

रेसलिंग में भारतीय खिलाड़ियों ने 5 गोल्ड, 3 सिल्वर और 4 ब्रॉन्ज समेत कुल 12 मेडल अपने नाम किए। सुमित मलिक ने पुरुषों की फ्री स्टाइल कुश्ती के 125 किलोग्राम भारवर्ग में स्वर्ण पदक जीता. सुमित को नाइजीरिया के सिनिवेई बोल्टिक से भिड़ना था, लेकिन नाइजीरियाई खिलाड़ी ने सुमित को वॉकओवर दे दिया और इसी के साथ सुमित ने स्वर्ण अपने नाम किया.

खिलाड़ीस्पर्धापदक
राहुल अवारेपुरुषों की 57 किग्रा वर्गस्वर्ण
सुशील कुमारपुरुषों की 74 किलोग्राम भार वर्गस्वर्ण
बजरंग पुनियापुरुषों की 65 किलोग्राम भार वर्गस्वर्ण
विनेश फोगाटमहिलाओं की 50 किग्रा भारवर्गस्वर्ण
सुमित मलिकपुरुषों की फ्री स्टाइल 125 किलोग्राम भारवर्गस्वर्ण
बबीता फोगाटमहिलाओं की 53 किग्रा वर्गरजत
मौसम खत्रीपुरुषों की 97 किलोग्राम भारवर्गरजत
पूजा ढ़ांडामहिलाओं की 57 किग्रा भार वर्ग फ्री स्टायलरजत
किरणमहिलाओं की 76 किलो भार वर्गकांस्य
दिव्‍या काकरानमहिलाओं की 68 किलोग्राम भारवर्गकांस्‍य
साक्षी मलिकमहिलाओं की 62 भारवर्गकांस्य
सोमवीरपुरुषों की 86 किग्रा भार वर्गकांस्य

बैडमिंटन

बैडमिंटन में भारत ने कुल 6 पदक जीते। भारत ने मिश्रित टीम इवेंट में गोल्ड मेडल जीता. इस स्पर्धा के फाइनल में मलयेशिया को पराजित कर स्वर्ण पदक जीत इतिहास रचा है. कॉमनवेल्थ के बैडमिंटन मिश्रित टीम स्पर्धा में यह भारत का पहला गोल्ड मेडल है.
बैडमिंटन के महिला एकल में भी साइना नेहवाल ने हमवतन पीवी सिंधु को हराकर स्वर्ण पदक अपने नाम किया। कॉमनवेल्थ गेम्स में साइना नेहवाल का यह दूसरा गोल्ड मेडल है. ऐसा करने वाली वह भारत की पहली महिला शटलर हैं. इससे पहले उन्होंने दिल्ली कॉमनवेल्थ गेम्स-2010 में गोल्ड मेडल जीता था. भारत के लिए सबसे बड़ी खुशखबरी रही कि यह पहला मौका है, जब बैडमिंटन के महिला एकल का गोल्ड और सिल्वर मेडल दोनों ही उसके खाते में आए.
पुरुष एकल मुकाबले में भारत के किदांबी श्रीकांत को फाइनल में ओलिंपिक सिल्वर मेडलिस्ट मलयेशिया के ली चेंग वेई से हार का सामना करना पड़ा।

खिलाड़ीस्पर्धापदक
टीममिश्रित टीम स्पर्धास्वर्ण
साइना नेहवालमहिला एकलस्वर्ण
सात्विक साईराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टीपुरुष युगलरजत
किदाम्बी श्रीकांतपुरुष एकलरजत
पीवी सिंधुमहिला एकलरजत
अश्विनी पोनप्पा और सिक्की रेड्डीमहिला युगलकांस्य

टेबल टेनिस

टेबल टेनिस में भारत को 3 स्वर्ण, 2 रजत और 3 कांस्य पदक सहित 8 पदक मिले. भारतीय महिला और पुरुष टीम ने फाइनल में क्रमशः सिंगापुर और नाइजीरिया को पराजित कर इतिहास रच दिया। इसके अलावा महिला एकल में मणिका बत्रा ने गोल्ड मेडल जीता। पुरुष युगल और महिला युगल मुकाबलों में भारत को सिल्वर मेडल मिला।

खिलाड़ीस्पर्धापदक
भारतीय टीममहिला टेबल टेनिस टीमस्वर्ण
भारतीय टीमपुरूष टेबल टेनिस टीमस्वर्ण
मणिका बत्रामहिला एकलस्वर्ण
मनिका बत्रा और मौमा दासमहिला युगलरजत
शरत कमल और जी साथियानपुरुष युगलरजत
हरमीत देसाई और सनिल शंकर शेट्टीपुरुष युगलकांस्य
अचंता शरथपुरुष एकलकांस्य
मनिका बत्रा और साथियान गणशेखरनमिश्रित युगलकांस्य

मुक्केबाजी (बॉक्सिंग)

बॉक्सिंग में भारत ने कुल 9 पदक जीते। इनमें 3 गोल्ड, 3 सिल्वर और 3 ब्रॉन्ज मेडल जीते। महिला की 45-48 किग्रा भारवर्ग स्पर्धा में एमएस मैरी कॉम ने स्वर्ण पदक जीता. मैरी कॉम कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड जीतने वाली पहली भारतीय महिला बॉक्सर बन गई हैं. लंदन ओलिंपिक-2012 में मैरी कॉम ने कांस्य पदक जीता था.

खिलाड़ीस्पर्धापदक
एमएस मैरी कॉममहिलाओं की 45-48 किग्रा भारवर्गस्वर्ण
गौरव सोलंकीपुरुषों की 52 किलोग्राम भारवर्गस्वर्ण
विकास कृष्णननपुरुषों की 75 किलोग्राम भार वर्गस्वर्ण
अमित पंघलपुरुषों की 46-49 किलोग्राम भारवर्गरजत
मनीष कौशिकपुरुषों की 60 किलोग्राम भारवर्गरजत
सतीश कुमारपुरुषों की 91 किलोग्राम भार वर्गरजत
नमन तंवरपुरुषों की 91 किग्रा वर्गकांस्य
मनोज कुमारपुरुषों की 69 किलोग्राम भारवर्गकांस्य
मोहम्मद हुसामुद्दीनपुरुषों की 56 किलोग्राम भार वर्गकांस्य

ऐथलेटिक्स

ऐथलेटिक्स में भारत को तीन पदक हासिल हुए। नीरज चोपड़ा ने भाला फेंक (Javelin throw) में भारत को गोल्ड मेडल दिलाया। नीरज राष्ट्रमंडल खेलों में भालाफेंक में पदक जीतने वाले दूसरे भारतीय हो गए. इससे पहले 2010 में दिल्ली खेलों में काशीनाथ नाईक ने कांस्य पदक जीता था. वहीं सीमा पूनिया ने चक्का फेंक (डिस्कस थ्रो) में सिल्वर और नवदीप ढिल्लो ने ब्रॉन्ज जीता।

खिलाड़ीस्पर्धापदक
नीरज चोपड़ाभाला फेंक (Javelin throw)स्वर्ण
सीमा पूनियाचक्का फेंक (डिस्कस थ्रो)रजत
नवदीप ढिल्लोचक्का फेंक (डिस्कस थ्रो)कांस्य

स्क्वैश

स्क्वैश में भारत ने दो पदक अपने नाम किया. इस खेल में भारत को 2 रजत पदक मिले. दीपिका पल्लीकल और सौरव घोषाल की जोड़ी ने पुरुष डबल्स में रजत पदक जीता. भारतीय जोड़ी ऑस्ट्रेलिया की डोना और कैमरून से हार गयी. भारत की स्क्वैश जोड़ी दीपिका पल्लिकल कार्तिक और जोशना चित्नप्पा ने महिला युगल वर्ग में रजत पदक जीता.

खिलाड़ीस्पर्धापदक
दीपिका पल्लीकल और सौरव घोषालपुरुष युगलरजत
दीपिका पल्लिकल कार्तिक और जोशना चित्नप्पामहिला युगलरजत

हॉकी

भारतीय टीम हॉकी में कोई भी पदक जीतने में सफल नहीं रही. पुरुष और महिला दोनों हॉकी टीम ब्रॉन्ज मेडल मुकाबले हार गईं.

पदक तालिका

देशस्वर्णरजतकांस्यकुल पदक
Australia805959198
England454546136
India26202066
Canada15402782
New Zealand15161546
South Africa13111337
Wales10121436
Scotland9132244
Nigeria99624
Cyprus81514