यूपीएससी, एसएससी, बैंक, रेलवे सहित
केंद्र एबं राज्य सरकारों द्वारा
आयोजित सभी प्रतियोगिता
परीक्षा के लिए

एडुडोज वीकली समसामयिकी और विश्व घटना चक्र में आप पाएंगे, राष्ट्रीय, अंतर्राष्ट्रीय, राज्य, खेलकूद, पुरष्कार, विज्ञान, और अर्थव्यवस्थ से संवंधित वे सभी न्यूज़ और ऑनलाइन टेस्ट जिनके पूछे जाने की संभावना आगामी परीक्षाओं में है.

अति महत्वपूर्ण

भारतीय संविधान के 124वें संशोधन विधेयक 2019 को राष्ट्रपति की मंज़ूरी

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 12 जनवरी को भारतीय संविधान के 124वें संशोधन विधेयक को मंज़ूरी दे दी. यह संविधान संशोधन विधेयक सामान्य वर्ग के आर्थिक रूप से कमजोर लोगों के लिए शिक्षा और नौकरियों में 10% आरक्षण के लिए लाया गया था. इससे पहले संसद के दोनों सदनों (लोकसभा और राज्य सभा) से यह विधेयक को पारित किया जा चुका है. इस विधेयक पर राष्ट्रपति की मंज़ूरी के बाद यह संशोधन विधेयक संसद से पूर्ण रूप से पारित हो गया है और अब यह कानून बन चुका है. 124वें संशोधन विधेयक को संसद की मंज़ूरी के बाद यह 103वां संविधान संशोधन होगा.

सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री थावरचंद गहलोत ने इस संविधान संशोधन विधेयक पर चर्चा एवं पारित कराने के लिए दोनों सदनों में पेश किया था. लोकसभा ने इस विधेयक को 8 जनवरी को और राज्यसभा ने 9 जनवरी को पारित किया था. राज्य सभा ने इस विधेयक को 7 के मुकाबले 165 मतों से जबकि लोकसभा के 323 सदस्यों ने विधेयक के पक्ष में और 3 ने इसके खिलाफ वोट दिया था.

124वां संविधान संशोधन विधेयक

इस विधेयक को लागू करने के लिए संविधान के अनुच्छेद 15 और 16 में संशोधन करने की जरूरत थी. 124वां संविधान संशोधन विधेयक संविधान की धारा 15 और 16 में संशोधन करके राज्‍यों को आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के विकास के लिए विशेष प्रावधान की अनुमति देता है.

आरक्षण का लाभ किसे?
आरक्षण का लाभ उन्हें दिया जायेगा जिनकी वार्षिक आय आठ लाख रुपये से कम होगी और जिसके पास गांव में 5 एकड़ से कम खेती की जमीन है. साथ ही जिनके पास शहर में 1,000 स्क्वायर फीट से कम का घर है. जिनके पास 200 गज से कम की निगम की गैर-अधिसूचित जमीन हो.

आरक्षण की मौजूदा व्यवस्था
आरक्षण की मौजूदा व्यवस्था के तहत सुप्रीम कोर्ट ने आरक्षण की अधिकतम सीमा 50% निर्धारित की है. मौजूदा व्यवस्था के तहत देश में 49.5% आरक्षण लागू है. वर्तमान समय में ओबीसी को 27%, एससी को 15%, एसटी को 7.5% आरक्षण मिलता है.

संवैधानिक तथ्य

  1. अनुच्छेद 368: भारतीय संविधान में संशोधन सम्बन्धी प्रावधान संविधान के भाग 20 और अनुच्छेद 368 में किया गया है.
  2. अनुच्छेद 15: शैक्षणिक संस्थाओं में आरक्षण अनुच्छेद 15 के तहत मिलेगा. यह अनुच्छेद समानता का अधिकार देता है और धर्म, जाति, लिंग या जन्म स्थान के आधार पर भेदभाव को रोकता है. इसके लिए संविधान में नया अनुच्छेद 15(ग) शामिल किया जाएगा.
  3. अनुच्छेद 16: सरकारी नौकरियों में आरक्षण अनुच्छेद 16 के तहत मिलेगा. यह अनुच्छेद सरकारी नौकरियों में रोजगार के लिए समान अवसर का अधिकार देता है. इसके लिए संविधान में नया अनुच्छेद 16(ग) शामिल किया जाएगा.

सामान्य श्रेणी आरक्षण: एक दृष्टि

  • 10 फीसदी का ये आरक्षण मौजूदा 49.5 प्रतिशत आरक्षण से अलग होगा.
  • आरक्षण आर्थिक रूप से पिछड़े ऐसे गरीब लोगों को दिया जाएगा, जिन्हें अभी आरक्षण का फायदा नहीं मिल रहा है.
  • जाति धर्म से परे आर्थिक रूप से सभी कमज़ोर लोगों को आरक्षण का फायदा मिलेगा.
  • नए आरक्षण से पुराने आरक्षण के लाभार्थियों को नुकसान नहीं होगा.
  • बदलाव के बाद मौजूदा आरक्षण की सीमा 49.5 से बढ़कर 59.5 फीसदी हो जाएगी.
  • यह आरक्षण केंद्र और राज्य दोनों तरह की सरकारी नौकरियों पर लागू होगा.
  • राज्यों को अधिकार होगा कि वे इस आरक्षण के लिए अपना आर्थिक क्राइटेरिया तय कर सकें.

भारत की गीता गोपीनाथ ने आईएमएफ में मुख्य अर्थशास्त्री के पद का कार्यभार ग्रहण किया

भारत में जन्मी गीता गोपीनाथ ने हाल ही में अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) में मुख्य अर्थशास्त्री (चीफ इकोनॉमिस्ट) के पद का कार्यभार ग्रहण किया है. वह IMF की 11वीं चीफ इकोनॉमिस्ट बनीं हैं. उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष के अनुसंधान विभाग के इकोनॉमिक काउन्सलर और डायरेक्टर मॉरिस ऑब्स्टफेल्ड का स्थान लिया है जो 31 दिसंबर को सेवा निवृत्त हो गये. गीता इस पद पर आसीन होने वाली प्रथम भारतीय हैं.

कौन हैं गीता गोपीनाथ?
गीता गोपीनाथ का जन्म कर्नाटक के मैसूर शहर में हुआ था. उन्होंने दिल्ली यूनिवर्सिटी के लेडी श्रीराम कॉलेज से बीए और दिल्ली स्कूल ऑफ इकोनॉमिस्ट से एमए की डिग्री ली. इसके बाद उन्होंने यूनिवर्सिटी ऑफ वॉशिंगटन से भी एमए किया. इसके बाद साल 2001 में प्रिंसटन यूनिवर्सिटी से अर्थशास्त्र में पीएचडी की. इसी साल से शिकागो यूनिवर्सिटी में बतौर प्रोफेसर काम करना शुरू किया. इसके बाद साल 2005 से हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में पढ़ाना शुरू किया.

अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष: एक दृष्टि

  • अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (International Monetary Fund) एक अंतर्राष्ट्रीय संस्था है, जो अपने सदस्य देशों की वैश्विक आर्थिक स्थिति पर नज़र रखने का काम करती है.
  • इसका उद्देश्य आर्थिक स्थिरता सुरक्षित करना, आर्थिक प्रगति को बढ़ावा देना, गरीबी कम करना, रोजगार को बढ़ावा देना और अंतर्राष्ट्रीय व्यापार सुविधाजनक बनाना है.
  • आईएमएफ की स्थापना 27 दिसंबर 1945 को हुई थी. इसका मुख्यालय वॉशिंगटन डीसी, संयुक्त राज्य में है. इस संगठन के प्रबंध निदेशक क्रिस्टीन लेगार्ड (जर्मनी) है.
  • आईएमएफ की विशेष मुद्रा एसडीआर (स्पेशल ड्राइंग राइट्स) है. अंतर्राष्ट्रीय व्यापार और वित्त के लिए कुछ देशों की मुद्रा का इस्तेमाल किया जाता है, इसे एसडीआर कहते हैं. एसडीआर में यूरो, पाउंड, येन और डॉलर हैं.

सीबीआई प्रमुख पद से स्थानान्तरण किये गए आलोक वर्मा ने इस्तीफ़ा दिया

सीबीआई प्रमुख पद से स्थानान्तरण किये जाने के बाद आलोक वर्मा ने 11 जनवरी को अपने पद से इस्तीफ़ा दे दिया. सीबीआई के निदेशक रहे आलोक वर्मा का 10 जनवरी को स्थानान्तरण कर दिया गया था. उन्‍हें दमकल सेवाओं, सिविल डिफेंस और होमगार्ड्स का महानिदेशक बना दिया गया था. उनके स्थानान्तरण का फैसला प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी की अध्‍यक्षता में हुई चयन समिति की बैठक में लिया गया था. इस चयन समिति में विपक्षी दल के नेता मल्लिकार्जुन खडगे और उच्‍चतम न्‍यायालय के प्रधान न्‍यायाधीश के प्रतिनिधि न्‍यायमूर्ति एके सीकरी भी शामिल थे. समिति ने सीबीआई प्रमुख के रूप में आलोक वर्मा को बनाये रखने को संस्‍था के हित के प्रतिकूल पाया. कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खडगे के विरोध के बीच 2-1 के बहुमत से इसका फैसला किया गया था.

एम नागेश्‍वर राव को निदेशक के पद का कार्यभार
मंत्रिमंडल की नियुक्ति समिति ने एम. नागेश्‍वर राव को सीबीआई के निदेशक के पद का कार्यभार दिया है. वे अब तक सीबीआई के अपर महानिदेशक के पद पर कार्यरत थे.

क्या है मामला?
उल्लेखनीय है कि सीबीआई के निदेशक आलोक वर्मा और उप-निदेशक राकेश अस्‍थाना द्वारा एक दूसरे पर भ्रष्‍टाचार के आरोप लगाए जाने के बाद सरकार ने दोनों को अक्‍टूबर 2018 में छुटटी पर भेज दिया था. सरकार के इस निर्णय को आलोक वर्मा ने न्‍यायालय में चुनौती दी थी. उच्‍चतम न्‍यायालय ने 8 जनवरी को आलोक वर्मा को पुनः सीबीआई निदेशक के रूप में बहाल कर दिया. साथ ही न्‍यायालय ने वर्मा के खिलाफ चल रहे भ्रष्‍टाचार के मामले के जाँच के आदेश चयन समिति को दिया था.


चीनी अंतरिक्षयान ‘चांग इ-4’ ने चंद्रमा के पिछले हिस्से की पहली तस्वीर भेजी

चंद्रमा पर हाल ही में उतरने वाले चीन के ‘चांग इ-4’ अंतरिक्ष-यान ने पहली तस्वीर भेजी है. इन तस्वीरों से वैज्ञानिकों को अतंरिक्ष-यान के आस-पास मौजूद भू-भाग एवं मैदान के प्राकृतिक रूप का प्रारंभिक विश्लेषण करने में मदद मिलेगी. ‘चांग इ-4’ यान चंद्रमा के सबसे दूर (धरती से कभी न नजर आने वाले) के हिस्से पर उतरने वाला पहला अंतरिक्ष यान है.
चीन ने ‘चांग इ-4’ को 3 जनवरी 2019 को प्रक्षेपित किया था. चंद्रमा के कभी न देखे गए हिस्से तक पहुंचने वाला विश्व का यह पहला अंतरिक्ष-यान बन गया था.


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ‘फिलिप कोटलर प्रेसीडेंशियल’ सम्मान से सम्मानित

प्रधानमंत्री मोदी को अमेरिका का पहला ‘फिलिप कोटलर प्रेसीडेंशियल’ सम्मान से 14 जनवरी को सम्मानित किया गया. प्रधानमंत्री को यह सम्मान दूरदर्शी नेतृत्व, डिजिटल क्रांति, कल्याणकारी योजनाओं और वित्तीय समावेशन के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्यों के लिए दिया गया है. अमेरिका के जॉर्जिया में इमोरी यूनीवर्सिटी के डॉ. जगदीश सेठ ने प्रधानमंत्री मोदी को यह पुरस्कार प्रदान किया.

पुरस्कार के प्रशस्तिपत्र में कहा गया है कि नरेन्द्र मोदी का चयन ‘‘देश को उत्कृष्ट नेतृत्व’’ प्रदान करने के लिये किया गया है. मोदी के नेतृत्व में भारत की पहचान अब नवाचार और मूल्यवर्धित विनिर्माण (मेक इन इंडिया) के साथ ही सूचना प्रौद्योगिकी, लेखांकन एवं वित्त जैसे पेशेवर सेवाओं के केन्द्र के रूप में उभरी है. नरेन्द्र मोदी ने अथक ऊर्जा के साथ भारत के लिये उनकी निःस्वार्थ सेवा की वजह से देश ने बेहतरीन आर्थिक, सामाजिक और प्रौद्योगिकीय विकास किया है. इसमें मेक इन इंडिया, स्टार्टअप इंडिया, डिजिटल इंडिया और स्वच्छ भारत जैसी पहलों की चर्चा की गयी है, जिससे भारत पूरी दुनिया के सबसे आकर्षक विनिर्माण एवं व्यापार केन्द्रों में से एक के रूप में उभरा है.

‘फिलिप कोटलर प्रेसीडेंशियल’ सम्मान: एक दृष्टि

  • प्रोफेसर फिलिप कोटलर अमेरिका के नॉर्थवेस्टर्न यूनिवर्सिटी, केलॉग स्कूल ऑफ मैनेजमेंट में मार्केटिंग के एक विश्व प्रसिद्ध प्रोफेसर हैं.
  • यह पुरस्कार तीन आधार रेखा ‘पीपुल, प्रॉफिट और प्लानेट’ पर केन्द्रित है, जिसे प्रत्येक वर्ष किसी देश के नेता को प्रदान किया जायेगा.

राष्ट्रीय घटनाक्रम

लोकसभा ने ‘नागरिकता संशोधन विधेयक’ को मंजूरी दे दी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 7 जनवरी को नागरिकता संशोधन विधेयक को मंजूरी दी. यह विधेयक नागरिकता कानून, 1955 में संशोधन के लिए लाया गया है. लोकसभा ने 8 जनवरी को इस संशोधन विधेयक पारित कर दिया. अब यह विधेयक राज्यसभा की मंजूरी के लिए भेजा गया है.

इस विधेयक पर संसद की मंजूरी के बाद, अफगानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान के हिन्दू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई धर्म के मानने वाले अल्पसंख्यक समुदाय को 12 साल के बजाय छह साल भारत में गुजारने पर भारतीय नागरिकता प्रदान करेगा.


आतंकवाद के खिलाफ एक-दूसरे के साथ सहयोग पर भारत और नॉर्वे के बीच सहमति

अंतर्राष्‍ट्रीय स्‍तर पर आतंकवाद के सभी प्रारूपों के खिलाफ एक-दूसरे के साथ सहयोग पर भारत और नॉर्वे के बीच सहमति बनी है. यह सहमति भारत की यात्रा पर आये नॉर्वे की प्रधानमंत्री सुश्री एर्ना सोलबर्ग और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बीच हुई वरतम में बनी. वार्ता के बाद नई दिल्ली में जारी एक संयुक्त वक्तव्य में दोनों देशों ने अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से आग्रह किया कि वह संयुक्त राष्ट्र संघ में पेश भारत के उस प्रस्ताव को जल्द ही अंतिम रूप दे, जिसमें अंतर्राष्ट्रीय आतंकवाद पर एक समग्र सम्मेलन की बात कही गयी है. सुश्री एर्ना सोलबर्ग तीन दिवसीय दौरे पर 7 से 9 जनवरी तक भारत की यात्रा पर थीं.


भारत और जापान ने वैश्विक साझेदारी मज़बूत करने के लिए अपनी प्रतिबद्धता दोहराई

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत की यात्रा पर आये जापान के विदेश मंत्री तारो कोनो के साथ 9 जनवरी को वार्ता की. इस वार्ता बैठक में दोनों देशों ने विशेष रणनीतिक और वैश्विक साझेदारी को और मज़बूत करने के लिए अपनी प्रतिबद्धता दोहराई. श्री मोदी ने कहा, भारत इस साल के अंत में जापान के साथ वार्षिक शिखर सम्मेलन के अगले दौर की प्रतीक्षा कर रहा है.


भारत और ऑस्ट्रेलिया ने रक्षा एवं सुरक्षा क्षेत्र में सहयोग व्यापक करने पर चर्चा की

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने भारत की यात्रा पर आये ऑस्ट्रेलिया की विदेश मंत्री मारिसे पेने से 8 जनवरी को वार्ता बैठक की. इस बैठक में दोनों देशों के बीच रक्षा एवं सुरक्षा सहयोग को और व्यापक बनाने पर चर्चा हुई. दोनों नेताओं ने हिंद-प्रशांत क्षेत्र की स्थिति पर चर्चा की और क्षेत्र में शांति एवं स्थायित्व के लिए सहयोग बढ़ाने का संकल्प लिया. पेने तीन दिवसीय दौरे पर 7 से 9 जनवरी तक भारत की यात्रा पर थीं.


भारत-मध्य एशिया संवाद पर पहली मंत्रिस्तरीय बैठक संपन्न

भारत-मध्य एशिया संवाद पर पहली मंत्रिस्तरीय बैठक 12-13 जनवरी को उज्बेकिस्तान के समरकंद शहर में आयोजित किया गया. विदेशमंत्री सुषमा स्वराज ने इस बैठक में भारत का प्रतिनिधित्व किया. उन्होंने उज़्बेकिस्तान के विदेशमंत्री अब्दुल अज़ीज कामिलोफ के साथ इस बैठक की सह-अध्यक्षता की. इस मौके पर विदेश मंत्री स्वराज ने भारत-मध्य एशिया विकास समूह भी स्थापित करने का प्रस्ताव रखा.

अफगानिस्तान से संपर्क बढ़ाने पर बातचीत: भारत-मध्य एशिया संवाद पर पहली मंत्रिस्तरीय बैठक में युद्ध से तहस-नहस हुए अफगानिस्तान से संपर्क बढ़ाने सहित कई क्षेत्रीय मुद्दों पर प्रमुखता से बातचीत हुई. इस मौके पर स्वराज ने कहा कि भारत, अफगानिस्तान को लोकतांत्रिक, समृद्ध, शांतिप्रिय देश बनाए रखने का हिमायती है और अफगानिस्तान को इसके लिए भारत मदद करता रहेगा.

अंतरराष्ट्रीय घटनाक्रम

शेख हसीना ने बांग्लादेश के प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली

बांग्लादेश में अवामी लीग के नेता और मौजूदा प्रधानमंत्री शेख हसीना ने 7 जनवरी को चौथी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ ली. उनके साथ नए मंत्रियों को भी शपथ दिलाई गई. हसीना के मंत्रिमंडल में 24 मंत्री, 22 राज्य मंत्री होंगे. जनवरी 2009 के बाद से शेख हसीना के नेतृत्‍व में यह तीसरी सरकार होगी. इससे पहले 1996 से 2001 तक वे प्रधानमंत्री थीं.

देश में हाल ही में हुए आम चुनाव में शेख हसीना की पार्टी ‘अवामी लीग’ ने ऐतिहासिक जीत हासिल की थी. इस चुनाव में आवामी लीग 258 और उसकी सहयोगी जातीय पार्टी 22 सीटों पर विजयी रही थी. मुख्य विपक्षी दल बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी (बीएनपी) ने 5 और उसके सहयोगी दलों ने महज 2 सीटें जीतीं थी.

उल्लेखनीय है कि बांग्लादेश के संस्थापक बंगबंधु शेख मुजीबुर रहमान की बेटी हसीना को कई लोग देश की लौह महिला कहते हैं. पूर्व प्रधानमंत्री खालिदा जिया नीत मुख्य विपक्षी पार्टी बीएनपी ने आम चुनावों के नतीजों को मानने से इनकार कर दिया था.


अफगानिस्‍तान में सोने की एक खान में दुर्घटना

अफगानिस्तान में बदख्शां प्रांत में सोने की एक खान में हुई दुर्घटना में कई लोगों की मौत हो गई. नदी के निकट 200 फीट गहरा गढ्ढा खोदे जाने से खान के अंदर की दीवार के ढह जाने से यह दुर्घटना हुई. अवैध हथियारों से लैस लोग अक्सर सोना, कोयला और अन्य खनिजों के लिए प्राकृतिक भंडारों में गैर कानूनी खनन करते हैं.


ग्वाटेमाला सरकार और संयुक्त राष्ट्र समर्थित भ्रष्टाचार निरोधक आयोग के बीच तनाव

ग्वाटेमाला सरकार और संयुक्त राष्ट्र समर्थित भ्रष्टाचार निरोधक आयोग (सीआईसीआईजी) के बीच हाल के दिनों में तनाव जारी है. यह तनाव ग्वाटेमाला के अधिकारियों द्वारा संयुक्त राष्ट्र समर्थित जांच आयोग के सदस्य को रोकने से पैदा हुआ है. ग्वाटेमाला के आव्रजन अधिकारियों ने संयुक्त राष्ट्र समर्थित कोलंबियाई नागरिक यीलेन ओसोरियो को 6 जनवरी को हवाई अड्डे पर पहुंचने पर हिरासत में ले लिया. यह कदम अदालत के उस आदेश के बावजूद उठाया गया है जिसमें अदालत ने सरकार को आदेश दिया था कि सीआईसीआईजी नामक आयोग के सदस्यों को वीजा और प्रवेश दिया जाए. इस आयोग ने ग्वाटेमाला की सरकार के शीर्ष सदस्यों के साथ ही राष्ट्रपति जिमी मोराल्स के बेटे और उनके भाई की भी जांच की है.


चीन ने नौसैन्य रडार ‘ओवर द होरिजन’ (ओटीएच) विकसित किया

चीन ने एक उन्नत समुद्री रडार ‘ओवर द होरिजन’ (ओटीएच) विकसित किया है. यह रडार भारत के आकार जितने क्षेत्र पर लगातार नजर रखने में सक्षम है. घरेलू स्तर पर विकसित रडार प्रणाली चीनी नौसेना को चीन के समुद्रों पर पूरी नजर रखने में सक्षम बनाएगी और यह शत्रु पोतों, विमानों एवं मिसाइलों के आते खतरों को मौजूदा तकनीक की तुलना में बहुत पहले पहचान लेगी. चीन की इस रडार तकनीक को विकसित करने का श्रेय चाइनीज अकेडमी ऑफ साइसेंस के शिक्षाविद् लियू योंगतान को जाता है. चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने लियू और एक अन्य सैन्य वैज्ञानिक कियान क्विहू को उनके योगदान के लिए मंगलवार को विज्ञान के क्षेत्र में दिए जाने वाले देश के शीर्ष पुरस्कार से सम्मानित किया. लियू ने कहा, पारंपरिक तकनीकों की मदद से हमारे समुद्री क्षेत्र के करीब 20 प्रतिशत भाग की ही निगरानी हो पाती थी. नई प्रणाली पूरे क्षेत्र पर नजर रखेगी.


अमेरिका और चीन के बीच व्यापार युद्ध पर वार्ता संपन्न

अमेरिका और चीन के बीच जारी व्यापार युद्ध के समाधान के लिये दोनों देश के बीच जारी व्यापार वार्ता 10 जनवरी को सकारात्मक संकेत के साथ समाप्त हो गई. दोनों देशों के उप-मंत्री स्तर की यह व्यापार वार्ता चीन के बीजिंग में आयोजित किया गया था.

उल्लेखनीय है कि दोनों देशों के राष्ट्रपतियों के बीच 1 दिसंबर 2018 को (अर्जेंटीना में समूह-20 की बैठक के मौके पर) एक बैठक हुई थी. इस बैठक में दोनो देशों के बीच व्यापार शुल्क युद्ध को तीन माह के लिये स्थगित रखने पर सहमति बनी थी.

अमेरिका और चीन के बीच व्यापार युद्ध की वजह
अमेरिका चीन का सबसे बड़ा व्यापार भागीदार है. वर्ष 2017 में अमेरिका का चीन के साथ कुल व्यापार 635.4 अमेरिकी डालर का रहा. इसमें अमेरिका से चीन को निर्यात 129.9 अरब डालर और चीन से अमेरिका को किया गया आयात 505.5 अरब डालर रहा. इस प्रकार 2017 में अमेरिका का चीन के साथ वस्तु व्यापार घाटा 375.6 अरब डालर रहा. चीन के साथ सेवाओं के व्यापार के मामले में भी अमेरिका का 40.2 अरब डालर का व्यापार अधिशेष है.

चीन के साथ व्यापार घाटे को देखते हुए अमरिका ने 2017 में चीन के 250 अरब डालर के सामानों के आयात पर आयात शुल्क 25 प्रतिशत तक बढ़ा दिया. इसके जवाब में चीन ने भी 110 अरब डालर के अमेरिकी सामानों के आयात पर शुल्क बढ़ा दिया.


कांगो में राष्ट्रपति चुनाव में विपक्षी नेता फेलिक्स त्शिसेकेदी को जीत

कांगो में हाल ही में हुए राष्ट्रपति चुनाव में विपक्षी नेता फेलिक्स त्शिसेकेदी को जीत हासिल हुई है. इस चुनाव में श्री फेलिक्स को 38.57 प्रतिशत वोट मिले हैं. अन्य विपक्षी उम्मीदवार मार्टिन फायुलु ने इन नतीजों को चुनावी तख्तापलट बताते हुए खारिज कर दिया है. अगर संवैधानिक न्यायालय फेल्किस त्शिसेकेदी की जीत की पुष्टि कर देता है तो कांगो में 1960 में बेल्जियम से आजादी मिलने के बाद पहली बार लोकतांत्रिक तरीके से सत्ता हस्तांतरण होगा.

मुख्य तथ्य: एक दृष्टि
कांगो (कांगो लोकतान्त्रिक गणराज्य) अफ्रीका महाद्वीप के मध्य में स्थित देश है. किन्शासा, कांगो की राजधानी है. क्षेत्रफल के लिहाज से यह देश अफ्रीका महाद्वीप का तीसरा सबसे बड़ा देश है. कांगो नाम कांगो नदी के नाम पर पड़ा है. कांगो क्षेत्रफल के अनुसार विश्व का 11वाँ सबसे बड़ा देश है और फ़्रान्सीसी भाषा बोलने वाला सबसे बड़ी आबादी वाला देश है.


ताइवान में राष्‍ट्रपति त्‍सई इंग-वेन ने सू त्‍सेंग-चांग को प्रधानमत्री नियुक्‍त किया

ताइवान के राष्‍ट्रपति त्साई इंग-वेन ने 11 जनवरी को सू त्सेंग-चांग को देश का नया प्रधानमंत्री के रूप में नियुक्त किया. सू ने विलियम लाई का स्थान लिया है. नवम्बर 2018 में हुए स्थानीय चुनावों में सत्‍ताधारी, डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी (डीपीपी) को हुए भारी नुकसान के बाद विलियम लाई ने प्रधानमंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया था. सू ने वर्ष 2012 में डीपीपी में शामिल होने से पहले वर्ष 2006 और 2007 के बीच ताईवान के प्रधानमंत्री के रूप में अपनी सेवा दे चुके हैं.

ताइवान: एक दृष्टि

  • ताइवान पूर्व एशिया में स्थित एक द्वीप है. यह द्वीप अपने आस-पास के कई द्वीपों को मिलाकर चीनी गणराज्य (रिपब्लिक ऑफ चाइना) का अंग है.
  • ताइवान की राजधानी ताइपे है. यहाँ की जनसंख्या लगभग 2.5 करोड़ है.
  • ताइवान (रिपब्लिक ऑफ चाइना) की स्वायत्ता तथा स्वतंत्रता को लेकर चीन (पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना) से विवाद रहा है. चीन ताइवान को अपना प्रांत मनता है.
  • चीन के राजनीतिक दबाव की वजह से भारत सहित अधिकतर राष्ट्रों ने ताइवान के साथ कूटनीतिक संबंध तोड़ लिए हैं. यहाँ तक कि संयुक्त राष्ट्र संघ ने भी चीन के दबाव में ताइवान की सदस्यता खारिज कर दी है.

निकोलस मादुरो ने दूसरी बार वेनेज़ुएला के राष्ट्रपति पद की शपथ ली

निकोलस मादुरो ने 10 जनवरी को वेनेज़ुएला के राष्ट्रपति पद की शपथ ली. वे इस पद पर 2019 से 2025 तक बने रहेंगे. यह उनका दूसरा कार्यकाल है. मादुरो के शपथ ग्रहण समारोह में 94 देशों का प्रतिनिधिमंडल भी शामिल हुआ. इनमें बोलीविया के राष्ट्रपति एवो मोरोलेस, क्यूबा के राष्ट्रपति मिगुएल डियाज कनाल, निकारागुआ के राष्ट्रपति डेनियल ओर्टेगा और अल सल्वाडोर के राष्ट्रपति सल्वाडोर सांचेज केरेन शामिल हैं.

वेनेज़ुएला: एक दृष्टि

  • वेनेज़ुएला दक्षिणी अमरीका महाद्वीप में स्थित एक देश है. यहाँ की राजधानी काराकास है.
  • वेनेज़ुएला के पूर्व में गुयेना, दक्षिण में ब्राजील एंव पश्चिम में कोलंबिया है. इसके उत्तर में कैरेबियन द्वीपसमुह एंवम् उत्तर पूर्व मे अंट्लान्टिक महासागर है.
  • वेनेजुएला के अर्थव्यवस्था का एक बड़ा हिस्सा तेल (पेट्रोलियम) पर आधारित है. वेनेज़ुएला संयुक्त राज्य अमेरिका को तेल का सबसे बड़ा विदेशी आपूर्तिकर्ता है.

फ्रांस में हजारों प्रदर्शनकारियों ने एक बार फिर यलो वेस्ट आंदोलन शुरू किया

फ्रांस में हजारों प्रदर्शनकारियों ने एक बार फिर यलो वेस्ट आंदोलन का नया दौर शुरू कर दिया है. यलो वेस्ट आंदोलन में 12 जनवरी को करीब 84,000 लोगों ने हिस्सा जो अब तक का सबसे अधिक संख्या है.

यलो वेस्ट आंदोलन क्या है? यलो वेस्ट आंदोलन फ्रांस में देशव्यापी विरोध प्रदर्शन है. यह आंदोलन सबसे पहले ईंधन की बढ़ती कीमत को लेकर शुरू हुआ था लेकिन फिर बढ़ती महंगाई और कई अन्य मांगों को लेकर व्यापक होता चला गया.


अमेरिका ने तुर्की को कुर्दिस्तान पर हमला नहीं करने की चेतावनी दी

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने तुर्की को सीरिया के कुर्दिस्तान पर हमला नहीं करने की चेतावनी दी है. राष्ट्रपति ट्रंप ने साथ ही कुर्दिस्तान से भी आग्रह किया कि वो तुर्की को उकसाने का काम न करे. उन्होंने कहा कि तुर्की ने कुर्दीस्तान पर हमला किया तो अमेरिका उसकी आर्थिक स्थिति बदहाल कर देगा. उन्होंने कहा कि सीरिया में आईएसआईएस के खात्मे की अमेरिकी नीति से सबसे ज्यादा फायदा रूस, ईरान और सीरिया को हुआ. इससे अमेरिका को भी फायदा है लेकिन अब वक्त आ गया है कि अमेरिकी सेना को वापस बुला लिया जाए.

उल्लेखनीय है कि अमरीकी राष्ट्रपति ने सीरिया में इस्लामिक स्टेट के खिलाफ जारी लड़ाई में जीत का दावा करते हुए अमरीकी सैनिकों की वापसी की घोषणा की है. दरअसल, श्री ट्रम्प के इस फैसले पर इजरायल समेत कई देशों ने चिंता जताई है. सीरिया में इस्लामिक स्टेट के खिलाफ जारी लड़ाई में वर्ष 2015 से ही दो हजार से अधिक अमरीकी सैनिक तैनात हैं।

गौरतलब है कि तुर्की के राष्ट्रपति ने दिसंबर 2018 में घोषणा की थी कि यदि अमरीका अपने सैनिकों को सीरिया से नहीं हटाता है तो तुर्की यूफ्रेट नदी के पूर्वी तट के साथ-साथ सीरिया के मानबीज में तुर्की की सीमा के समीप कुर्द लड़ाकों के खिलाफ सैन्य अभियान शुरू करने के लिए तैयार है.

आर्थिकी घटनाक्रम

सीएसओ ने वर्ष 2018-19 के राष्ट्रीय आय का पहला अग्रिम अनुमान जारी किया

केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय (सीएसओ) ने 7 जनवरी को चालू वित्त वर्ष (2018-19) के राष्ट्रीय आय का पहला अग्रिम अनुमान जारी किया. इस अनुमान के अनुसार चालू वित्त वर्ष में भारतीय अर्थव्यवस्था की सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर 7.2 प्रतिशत रहने का अनुमान है. इससे पिछले वित्त वर्ष (2017-18) में यह दर 6.7 प्रतिशत रही थी. सीएसओ के अनुसार कृषि और विनिर्माण क्षेत्र के प्रदर्शन में सुधार से चालू वित्त वर्ष में वृद्धि दर पिछले वित्त वर्ष की तुलना में बेहतर रहने का अनुमान है.

सीएसओ के आंकड़ों के अनुसार कृषि, वन और मत्स्यपालन जैसी गतिविधियों की वृद्धि दर चालू वित्त वर्ष में 3.8 प्रतिशत रहने का अनुमान है, जो इससे पिछले वित्त वर्ष में 3.4 प्रतिशत रही थी. वहीं विनिर्माण क्षेत्र की वृद्धि दर 2017-18 के 5.7 प्रतिशत से 2018-19 में 8.3 प्रतिशत पर पहुंचने का अनुमान है. वित्त वर्ष 2016-17 में जीडीपी की वृद्धि दर 7.1 प्रतिशत रही थी. वहीं 2015-16 में यह 8.2 प्रतिशत थी.


भारत ने ईरान के महत्‍वपूर्ण चाबहार बंदरगाह का संचालन शुरू किया

भारत ने ईरान के चाबहार बंदरगाह का संचालन शुरू किया है. यह पहली बार है कि भारत ने अपने देश की सीमा के बाहर किसी बंदरगाह का संचालन संभाला है. भारत ने 24 दिसंबर 2018 को हुई चाबहार त्रिपक्षीय समझौता बैठक के बाद ईरान के चाबहार शाहिद बेहेश्‍ती के एक हिस्‍से का संचालन संभाल लिया.

चाबहार बंदरगाह: एक दृष्टि

  • चाबहार ईरान में सिस्तान और बलूचिस्तान प्रांत का एक शहर है. यह एक मुक्त बन्दरगाह है और ओमान की खाड़ी के किनारे स्थित है. यह ईरान का सबसे दक्षिणी शहर है.
  • चाबहार बंदरगाह भारत के सहयोग से बनाया गया है. इसके विकास के लिए भारत ने मई 2015 में ईरान के साथ द्विपक्षीय समझौते पर हस्ताक्षर किये थे.
  • यह बंदरगाह ईरान के लिए रणनीति की दृष्टि से बहुत महत्वपूर्ण है. इसके माध्यम से भारत के लिए समुद्री सड़क मार्ग से अफगानिस्तान पहुँचने का मार्ग प्रशस्त हो जायेगा और इस स्थान तक पहुँचने के लिए पाकिस्तान के रास्ते की आवश्यकता नहीं होगी.

डिजिटल भुगतान को बढ़ावा देने के लिए समिति का गठन

भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) ने भुगतानों के डिजिटलीकरण को प्रोत्साहित करने के लिए एक उच्च-स्तरीय समिति का गठन किया है. UIDAI के पूर्व अध्यक्ष नंदन नीलेकणी को इस समिति का अध्यक्ष बनाया गया है. इस पांच सदस्यीय समिति में अध्यक्ष के अलावा आरबीआई के पूर्व उप-गवर्नर श्री एचआर खान और पूर्व सूचना सचिव, सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय, श्रीमती अरुणा शर्मा शामिल होंगे.

मुख्य तथ्य: एक दृष्टि
भारतीय रिज़र्व बैंक की स्थापना: 1 अप्रैल 1935
भारतीय रिज़र्व बैंक का मुख्यालय: मुंबई
भारतीय रिज़र्व बैंक के वर्तमान (25वें) गवर्नर: शक्तिकांत दास


वैश्वेविक अर्थव्यवस्था वृद्धि पर विश्व बैंक का रिपोर्ट जारी

विश्व बैंक ने 8 जनवरी को ‘नियंत्रण आर्थिक परिदृश्य रिपोर्ट- जनवरी 2019’ जारी किया. इस रिपोर्ट में वैश्वेविक अर्थव्यवस्था वृद्धि का अनुमान व्यक्त किया है. इसके अनुसार भारत की अर्थव्यवस्था में चालू वित्त वर्ष 2018-19 के दौरान 7.3 फीसद तथा इसके बाद अगले दो साल के दौरान 7.5 फीसद की दर से वृद्धि होने का अनुमान है. विश्व बैंक ने कहा है कि भारत विश्व की सबसे तेजी से वृद्धि करने वाली मुख्य अर्थव्यवस्था बना रहेगा.
रिपोर्ट के अनुसार चीन की अर्थव्यवस्था के 2019 और 2020 में 6.2 फीसद तथा 2021 में 6 फीसद की दर से वृद्धि करने का अनुमान है.


जीएसटी काउंसिल की 32वीं बैठक में कई महत्वपूर्ण फैसले

जीएसटी काउंसिल की 32वीं बैठक का आयोजना 10 जनवरी को दिल्ली में किया गया. इस बैठक में लिए गये मुख्य फैसले इस प्रकार हैं:

कंपोजिशन स्कीम और जीएसटी की सीमा में कई बदलाव
कंपोज़िशन स्कीम की सीमा को 1 करोड़ से बढ़ाकर 1.5 करोड़ रुपए कर दिया गया. अभी तक ये सीमा 1 करोड़ रुपए थी. ये नई सीमा 1 अप्रैल 2019 से लागू होगी. 50 लाख तक का कारोबार करने वाली सर्विस सेक्टर इकाइयों को भी कंपोजिशन स्कीम के दायरे में लाया गया है.

छोटे कारोबारियों को राहत
जीएसटी परिषद ने छोटे कारोबारियों को राहत देते हुये छूट सीमा को 20 लाख से बढ़ाकर 40 लाख रुपये वार्षिक कर दिया है. पूर्वोत्तर राज्यों के लिए इस सीमा को 10 लाख रुपये से बढ़ाकर 20 लाख रुपये किया गया है.

रीयल एस्टेट के लिए मंत्री समूह
जीएसटी परिषद ने रीयल एस्टेट को जीएसटी के तहत रियायतें देने तथा राज्यों द्वारा संचालित लाटरी पर जीएसटी के संबंध में परिषद के तहत ही मंत्रियों के दो समूह बनाने का निर्णय लिया है. राज्यों के वित्त मंत्री इन समूहों के सदस्य होंगे जिनके नाम बाद में तय किए जाएंगे.

केरल के लिए 1 फीसद आपदा सेस
जीएसटी काउंसिल ने केरल को 2 साल के लिए 1 फीसद आपदा सेस लगाने को मंजूरी दी है. इससे राज्य को प्राकृतिक आपदा से निपटने में मदद मिलेगी.


विश्व आर्थिक फोरम की रिपोर्ट में भारत वर्ष 2030 तक तीसरा बड़ा उपभोक्ता बाजार

विश्व आर्थिक फोरम की ताजा रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 2030 तक भारत का, उपभोक्ता बाजार अमरीका और चीन के बाद तीसरे स्थान पर होगा. रिपोर्ट के अनुसार तब तक भारत का उपभोक्ता बाजार मौजूदा 15 खरब अमरीकी डालर से बढ़कर 60 खरब अमरीकी डालर हो जायेगा.


जीएसटी से राज्‍यों के राजस्‍व में आ रही कमी से निपटने के लिए समिति का गठन

जीएसटी परिषद ने वस्‍तु और सेवा कर (जीएसटी) लागू होने से राज्‍यों के राजस्‍व में आ रही कमी से निपटने के लिए एक समिति का गठन किया गया है. बिहार के उप-मुख्‍यमंत्री सुशील कुमार मोदी की अध्यक्षता में इस समिति में सात सदस्य होंगे. वित्‍तमंत्री अरुण जेटली की अध्‍यक्षता वाली जीएसटी परिषद ने हाल की अपनी बैठक में इस समिति के गठन का निर्णय लिया था.

यह समिति डेटा विश्‍लेषण कर राजस्‍व बढ़ाने और सुधारात्‍मक उपायों के सुझाव देगी. अप्रैल से नवम्‍बर के दौरान बिहार, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, उत्‍तराखंड, जम्‍मू-कश्‍मीर, ओडिशा और गुजरात सहित कई राज्‍यों के राजस्‍व में कमी आई है. जबकि, मिजोरम, अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर, सिक्किम और नगालैंड के राजस्‍व में वृद्धि हुई है.

भारतीय राज्य

सरकार ने देश में तीन नए एम्‍स खोलने के प्रस्ताव को मंजूरी दी

केन्‍द्रीय मंत्रिमंडल ने देश में स्‍वास्‍थ्‍य देखभाल के ढांचे को मजबूत बनाने के लिए तीन नए अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान (एम्‍स) खोलने के प्रस्ताव को 11 जनवरी को मंजूरी दी. इनमें से दो जम्‍मू-कश्‍मीर के सांबा और पुलवामा जि़लों में खोले जाएंगे. तीसरे एम्‍स की स्‍थापना गुजरात में राजकोट में की जाएगी.


छह राज्‍यों के बीच रेणुकाजी बांध बहुउद्देशीय परियोजना पर एक समझौते पर हस्‍ताक्षर

देश के छह राज्‍यों उत्‍तर प्रदेश, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, दिल्‍ली, राजस्‍थान और उत्‍तराखंड के बीच रेणुकाजी बांध बहुउद्देशीय परियोजना पर 11 जनवरी को नई दिल्‍ली में एक समझौते पर हस्‍ताक्षर किये गये. यह समझौता इन छह राज्‍यों के मुख्‍यमंत्री और जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण मंत्री नितिन गडकरी की उपस्थिति में हुए.

यह परियोजना ऊपरी यमुना थाले के उत्‍तराखंड और हिमाचल प्रदेश में यमुना और उसकी दो सहायक नदियों टोंस तथा गिरि से संबंधित है.

रेणुकाजी बांध बहुउद्देशीय परियोजना के पूरा हो जाने पर इन राज्‍यों के बीच जल विवाद भी समाप्‍त हो जायेगा. इस परियोजना से पेयजल और सिचाई की समस्‍या कम हो जाएगी. दिल्‍ली में करीब यमुना की क्षमता 160 प्रतिशत बढ़ जाएगी.


आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग को आरक्षण देने वाला पहला राज्य बना गुजरात

गुजरात सरकार ने राज्य के शिक्षण संस्थानों और सरकारी नौकरियों में सामान्य वर्ग के लोगों को 10 प्रतिशत आरक्षण देने का फैसला किया है. इस फैसले के बाद गुजरात देश का पहला ऐसा राज्य हो गया है जिसने सामान्य वर्ग के लोगों को 10 प्रतिशत आरक्षण देने का फैसला किया है. ये आरक्षण मौजूदा ओबीसी को और एससी/ एसटी को दिए जा रहे आरक्षण से अलग होगा. मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने इस बात की जानकारी देते हुए कहा कि 14 जनवरी 2019 से सरकारी नौकरियों और राज्य के उच्च शिक्षा संस्थानों में प्रवेश पर आरक्षण मिलेगा.

उल्लेखनीय है कि 124वां संविधान संशोधन विधेयक के माध्यम से संसद ने संविधान की धारा 15 और 16 में संशोधन किया था. यह संविधान संशोधन आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के विकास के लिए विशेष प्रावधान की अनुमति देता है.


सिक्किम में ‘वन फ़ैमिली वन जॉब’ योजना की शुरुआत

सिक्किम सरकार ने राज्य में ‘वन फ़ैमिली वन जॉब’ योजना शुरू की है. इस योजना के तहत राज्य में प्रत्येक परिवार के लिए एक सरकारी नौकरी आवंटित की गई है. यहाँ 12 विभागों में ग्रुप C और ग्रुप D पदों के लिए नई भर्ती निकाली गई थी.

मुख्य तथ्य: एक दृष्टि

  • सिक्किम के मुख्यमंत्री पवन कुमार चामलिंग और राज्यपाल गंगा प्रसाद हैं.
  • मुख्यमंत्री चामलिंग स्वतंत्र भारत के सबसे लंबे समय तक कार्यशील मुख्यमंत्री हैं.
  • गंगटोक सिक्किम की राजधानी है.

खेल जगत

पुणे में ‘खेलो इंडिया युवा खेल’ की शुरुआत

‘खेलो इंडिया यूथ गेम्स’ की 9 जनवरी को पुणे में शुरुआत हुई. यह खेलो इंडिया कार्यक्रम का दूसरा संस्करण है. इस कार्यक्रम के पहले संस्करण में ‘खेलों इंडिया स्कूल गेम्स’ का आयोजन किया गया था. खेल मंत्री राज्यवर्धन राठौर और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फड़नवीस की उपस्थिती में प्रधानमंत्री के संदेश के जरिए इन खेलों की शुरुआत हुई. यह प्रतियोगिता 9 से 20 जनवरी तक पुणे महाराष्ट्र के श्री शिव छत्रपति स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स में आयोजित किया जा रहा है.

खेलो इंडिया यूथ गेम्स में करीब 6 हजार से अधिक अंडर-17 और अंडर-21 स्तर के प्रतिभागी 18 प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेंगे जो. खेलो इंडिया के विजेता खिलाड़ियों को वित्तीय और ढांचागत सहायता मुहैया कराई जाएगी ताकि उन्हें भविष्य में होने वाले अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट के लिए तैयार किया जा सके.


हॉकी इंडिया ने सीनियर हॉकी टीम के कोच हरेंद्र सिंह को पद से हटाया

हॉकी इंडिया ने पुरुष टीम के कोच हरेंद्र सिंह को उनके पद से हटा दिया है. भारत में आयोजित हुए हॉकी विश्व कप 2018 में भारतीय पुरुष हॉकी टीम की हार के कारन उन्हें पद से हटाया गया है. हरेंद्र सिंह को अब भारतीय जूनियर हॉकी टीम को कोचिंग देने के लिए भेजा गया है.

उल्लेखनीय है कि भुवनेश्वर में 28 नवंबर से 16 दिसंबर 2018 के बीच आयोजित हुए हॉकी वर्ल्ड कप 2018 में टीम इंडिया पहले तीन पायदानों पर भी जगह नहीं बना पाई थी. इस विश्व कप के क्वार्टर फाइनल मुकाबले में भारतीय टीम को नीदरलैंड्स की टीम ने 2-1 से पराजित कर प्रतियोगिता से बहर कर दिया था.


भारतीय मुक्केबाज एमसी मैरीकॉम एआईबीए की विश्व रैंकिंग में पहले स्थान पर

भारतीय महिला मुक्केबाज एमसी मैरीकॉम अंतरराष्ट्रीय मुक्केबाजी संघ (एआईबीए) की विश्व रैंकिंग में पहले स्थान पर पहुंच गई हैं. मणिपुर की इस मुक्केबाज ने नवम्बर 2018 में दिल्ली में हुई विश्व चैंपियनशिप में के 48 किग्रा वर्ग का खिताब जीता था, जिससे वह टूर्नामेंट की सबसे सफल मुक्केबाज बन गई. एआईबीए की तजा रैंकिंग में मैरीकॉम ने 48 किग्रा वर्ग में 1700 अंक लेकर शीर्ष पर काबिज हैं.


बीरेन्‍द्र प्रसाद बैश्‍य 2020 में तोक्‍यो ओलिम्पिक के लिए मिशन प्रमुख नामित

भारतीय भारोत्तोलन महासंघ के अध्यक्ष बीरेन्द्र प्रसाद बैश्य को 2020 के तोक्यो ओलंपिक के लिए मिशन प्रमुख नियुक्‍त किया गया है. यह पहला अवसर है जब ओलंपिक में भारोत्तोलन को यह सम्‍मान मिला है. बैश्य भारतीय ओलंपिक संघ के उपाध्यक्षों में से एक हैं.


प्रीमियर बैडमिंटन लीग के चौथे सीजन का विजेता बेंगलुरू रैप्टर्स बना

प्रीमियर बैडमिंटन लीग (पीबीएल) के चौथे सीजन का विजेता बेंगलुरू रैप्टर्स रहा. 13 जनवरी को बेंगलुरू के कांतिरावा स्टेडियम में खेले गये फाइनल मुकावले में रैप्टर्स ने मुम्बई रॉकेट्स को 4-3 से हराते हुए इस प्रतियोगिता का विजेता बना. बेंगलुरू ने पहली बार यह खिताब जीता है. इस मुकाबले में रैप्टर्स के कप्तान किदाम्बी श्रीकांत के और थी रांग वू ने मैच जीत अपनी टीम को खिताब तक दिलाने में अहम भूमिका निभाई.


लिएंडर पेस और रेयेस वारेला की जोड़ी वियतनाम टेनिस ओपन का उप-विजेता बनी

भारत के लिएंडर पेस और मैक्सिको के मिगुएल एंजेल रेयेस वारेला की जोड़ी वियतनाम टेनिस ओपन में उपविजेता रही. डनांग सिटी में 13 जनवरी को खले गये इस प्रतियोगिता के फाइनल में दूसरी वरीय जोड़ी से हारकर पेस-वारेला की जोड़ी उपविजेता बनी है. पेस-वारेला की शीर्ष वरीय जोड़ी को ताइपे के चेंग-पेंग सीह और इंडोनेशिया के क्रिस्टोफर रूंगात की जोड़ी ने हराकर खिताब अपने नाम किया.


अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में न्यूनतम रन बनने का रिकॉर्ड

चीन की महिला क्रिकेट टीम ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में न्यूनतम रन बनने का रिकॉर्ड बनाया है. चीन की महिला क्रिकेट टीम 14 जनवरी को बैंकाक में खेले टी-20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में केवल 14 रन पर आउट हो गई. यह पुरुष और महिला दोनों वर्ग में टी-20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में न्यूनतम स्कोर है. ‘थाईलैंड टी-20 स्मैश’ प्रतियोगिता के इस मैच में संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के तीन विकेट पर 203 रन के विशाल स्कोर के जवाब में चीन की पूरी टीम दस ओवर में 14 रन पर आउट हो गई. यूएई ने यह मैच 189 रन से जीत दर्ज की जो कि महिला टी-20 अंतरराष्ट्रीय में नया रिकॉर्ड है. चीन की तरफ से हान लिली ने सर्वाधिक चार रन बनाए. महिला टी-20 अन्तर्राष्ट्रीय में इससे पहले न्यूनतम स्कोर का रिकॉर्ड मैक्सिको के नाम पर था जिसने वर्ष 2018 में ब्राजील के खिलाफ 18 रन बनाये थे. थाईलैंड टी-20 स्मैश में मलयेशिया, इंडोनेशिया और म्यांमा की टीमें भी भाग ले रही हैं.

विविध घटनाक्रम

जालंधर में भारतीय विज्ञान कांग्रेस का 106वां सत्र का समापन

106वां भारतीय विज्ञान कांग्रेस (आईएससी) 2019 का 7 जनवरी को समापन हो गया. यह आईएससी का 106वां सत्र था जिसका आयोजन लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी, जालंधर, पंजाब में 3 से 7 जनवरी को किया गया था. इस सत्र का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया था और इसमें केंद्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने भाग लिया.

आठवीं महिला विज्ञान कांग्रेस
भारतीय विज्ञान कांग्रेस के एक भाग के रूप में, महिला विज्ञान कांग्रेस का आयोजन किया गया था. यह महिला विज्ञान कांग्रेस का 8वां संस्करण था. इस कांग्रेस का उद्घाटन केंद्रीय कपड़ा और उद्योग मंत्री श्रीमती स्मृति जुबिन ईरानी ने किया था. इसका प्रमुख आकर्षण प्रवेश द्वार पर स्थापित 55-फीट, 25-टन बड़े पैमाने पर रोबोट ‘मेटल मैग्ना’ था. महिला विज्ञान कांग्रेस के समापन समारोह में मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने अपने संबोधन में नवाचार पर बल दिया.


विश्‍व बैंक के अध्‍यक्ष का अपने पद से इस्‍तीफा देने की घोषणा

विश्‍व बैंक के अध्‍यक्ष जिम यंग किम ने अपने पद से इस्‍तीफा देने की घोषणा की है. श्री किम का कार्यकाल 2022 में समाप्‍त होना है, लेकिन उन्‍होंने 1 फरवरी 2019 को पद छोड़ देने का ऐलान किया है. 58 वर्षीय किम पिछले छह साल से अधिक समय से इस पद पर हैं. विश्‍वबैंक की मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी क्रिस्‍टेलिना जार्जिवा 1 फरवरी 2019 से बैंक के अंतरिम अध्‍यक्ष का कार्यभार संभालेंगी.

उल्लेखनीय है कि वाशिंगटन स्थित विश्‍व बैंक का अध्‍यक्ष हमेशा अमरीकी नागरिक होता है, जिसे बैंक का सबसे बड़ा हिस्‍सेदार देश अमरीका मनोनीत करता है.


76वें गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड्स 2018 की घोषणा

अमेरिका के कैलिफोर्निया (लॉस एंजिलिस) में बेवर्ली हिल्टन होटल में 7 जनवरी को 76वें वार्षिक गोल्डन ग्लोब अवार्ड्स की घोषणा की गई. ये वार्षिक पुरस्कार मोशन पिक्चर्स और टेलीविजन में वर्ष 2018 के लिए है. इस वर्ष के आयोजन को अभिनेता एंडी सैमबर्ग और सैंड्रा ओह ने मेजबानी किया था.

सैंड्रा ओह गोल्डन ग्लोब की मेजबानी करने वाली पहली एशियाई महिला
कनाडाई अभिनेत्री सैंड्रा ओह ने गोल्डन ग्लोब की मेजबानी करने वाली पहली एशियाई महिला बनकर इतिहास रच दिया. उन्होंने टेलीविजन सीरीज में सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री की ट्रॉफी भी जीती.

ड्रामा टेलीविजन सीरीज में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन अभिनेत्री का खिताब
सैंड्रा ओह ने किलिंग ईव के लिए ड्रामा टेलीविजन सीरीज में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन अभिनेत्री का खिताब भी अपने नाम किया. वह इस सीरीज के लिए एमी पुरस्कार भी जीत चुकीं हैं. सैंड्रा ने एमी के लिए नामांकित होने वाली पहली महिला एशियाई बनकर पिछले साल भी इतिहास रचा था.

बॉडीगार्ड के लिए जीता गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड
अभिनेता र्रिचड मैडेन को नेटफ्लिक्स के हिट शो ‘बॉडीगार्ड’ के लिए गोल्डन ग्लोब पुरस्कार मिला है. यह र्रिचड का पहला गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड है.

सर्वश्रेष्ठ टीवी ड्रामा श्रृंखला का पुरस्कार
टीवी शो ‘द अमेरकिंस’ ने ‘बॉडीगार्ड’ को पीछे छोड़ते हुए सर्वश्रेष्ठ टीवी ड्रामा श्रृंखला का पुरस्कार हासिल किया है.

गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड: एक दृष्टि

  • हर साल हॉलीवुड फॉरेन प्रेस एसोसिएशन (एचएफपीए) मनोरंजन जगत में विशेष उपलब्धियों के लिए देशी-विदेशी कलाकारों, फिल्मों को गोल्डेन ग्लोब पुरस्कार से सम्मानित करता है.
  • पहला गोल्डन ग्लोब पुरस्कार जनवरी 1944 को लॉस एंजिल्स में आयोजित हुआ था.
  • हर वर्ष जनवरी में दिए जाने वाले इस अवॉर्ड को 90 अंतराष्ट्रीय पत्रकारों के मतों (वोट्स) के आधार पर दिया जाता है.

कुमार राजेश चंद्रा की एसएसबी के महानिदेशक पद पर नियुक्ति

कुमार राजेश चंद्रा को 7 जनवरी को सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) का महानिदेशक नियुक्त किया गया. वह 1985 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं. कुमार चंद्रा जो वर्तमान में नागर विमानन सुरक्षा ब्यूरो के महानिदेशक हैं. कैबिनेट की नियुक्ति समिति ने उनकी एसएसबी के महानिदेशक के रूप में पद पर कार्य करने को मंजूरी दी है.


निजी एफएम चैनलों पर आकाशवाणी समाचारों के प्रसारण शुभारंभ

सूचना और प्रसारण मंत्री कर्नल राज्‍यवर्धन राठौड़ ने निजी एफएम चैनलों पर आकाशवाणी समाचारों के प्रसारण का हाल ही में शुभारंभ किया है. निजी एफएम चैनल 31 मई 2019 से आकाशवाणी के समाचार सेवा प्रभाग के समाचार बुलेटिनों का परीक्षण के तौर पर प्रसारण करने लगेंगे. इसके अंतर्गत निजी प्रसारकों को हिन्‍दी और अंग्रेजी बुलेटिनों का ज्‍यों का त्‍यों प्रसारण करने की अनुमति होगी.

मुख्य तथ्य: एक दृष्टि
प्रसार भारती के अध्यक्ष: ए सूर्य प्रकाश
प्रसार भारती के सीईओ: शशि शेखर वेम्पती हैं


समाज पर अपना प्रभाव छोड़ने वाली असाधारण महिलाओं के लिए ‘वेब-वंडर वुमन’ अभियान की शुरूआत

सरकार ने सोशल मीडिया के माध्यम से समाज को प्रभावित करने और प्रभाव छोड़ने वाली असाधारण महिलाओं को सम्मानित करने के लिए ‘वेब-वंडर वुमन’ अभियान की शुरूआत की है. इस अभियान का उद्देश्य दुनिया भर से उन भारतीय महिलाओं की पहचान करना है जिन्होंने सामाजिक बदलाव की दिशा में सकारात्मक प्रयास करने के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल किया है. भारत सरकार के महिला और बाल विकास मंत्रालय ने इस अभियान को ब्रेकथ्रू और ट्विटर इंडिया के सहयोग से शुरू किया है. इस अभियान के लिए 31 जनवरी तक दुनिया भर से प्रविष्टियां आमंत्रित की गई हैं.


10 जनवरी: विश्‍व हिंदी दिवस

प्रत्येक वर्ष 10 जनवरी को विश्‍व हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाता है. इसका उद्देश्य विश्व में हिंदी भाषा का प्रचार-प्रसार और इसे अंतरराष्ट्रीय भाषा के रूप में स्थापित करना है. इस मौके पर दुनियाभर में हिंदी को लेकर कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं.

विश्व हिंदी दिवस: एक दृष्टि

  • पहला विश्व हिंदी सम्मेलन 10 जनवरी 1975 को नागपुर में आयोजित किया गया था.
  • हिंदी दुनिया की तीसरी सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा है.
  • साल 2006 से हर साल विश्व हिंदी दिवस मनाया जाता है.
  • देश के करीब 77% लोग हिंदी लिखते, पढ़ते, बोलते और समझते हैं.
  • अमेरिका के 45 विश्वविद्यालयों सहित पूरी दुनिया के करीब 176 विश्वविद्यालयों में हिंदी की पढ़ाई जारी है.

हिन्दी को संयुक्त राष्ट्र की आधिकारिक भाषा का दर्जा दिलाने की पहल

भारत सरकार ने हिन्दी को संयुक्त राष्ट्र की आधिकारिक भाषा का दर्जा दिलाने के लिए एक पहल शुरू की है. इस पहल में संयुक्त राष्ट्र के उस नियम में बदलाव की मुहिम शुरू की गयी है जिसमें इस प्रस्ताव का अनुमोदन करने वाले देशों पर खर्च वहन करने का जिम्मा डाला गया है.

संयुक्त राष्ट्र की आधिकारिक भाषा का दर्जा के लिए नियम व शर्तें

  • संयुक्त राष्ट्र में किसी भाषा को आधिकारिक भाषा का दर्जा दिलाने के लिए दो-तिहाई देशों द्वारा अनुमोदन जरूरी होता है.
  • अनुमोदन करने वाले देशों को इसके लिए होने वाले व्यय में हिस्सेदारी वहन करनी होती है. खर्च वहन करने की शर्त के कारण छोटे एवं गरीब देशों को समस्या होगी.
  • भारत पूरा खर्च वहन करने के लिए तैयार है लेकिन नियम के कारण ऐसा संभव नहीं है. इसी वजह से जर्मन एवं जापानी भाषा को भी संयुक्त राष्ट्र की आधिकारिक भाषा का दर्जा नहीं मिल पाया है.
  • भारत ने संयुक्त राष्ट्र के इस नियम को बदलवाने के लिए मुहिम शुरू कर दी है. भारत का कहना है कि अगर वह खुद पूरा खर्च वहन करने का तैयार है तो हिन्दी को नियंत्रण निकाय की आधिकारिक भाषा बनाने की इजाजत मिलनी चाहिए.

12 जनवरी: स्वामी विवेकानंद की जयंती

12 जनवरी को स्वामी विवेकानंद की जयंती है. इस दिन को राष्ट्रीय युवा दिवस के रुप में मनाता जाता है. स्वामी जी का जन्म 12 जनवरी 1863 को कोलकाता में हुआ था. उन्हें बचपन में परिजनों ने नरेंद्र नाम दिया था. उठो, जागो, और ध्येय की प्राप्ति तक रूको मत… स्वामी विवेकानंद का ये संदेश सदा सर्वदा देश और दुनिया के युवाओं को प्रेरित करता रहेगा. अमरीका के शिकागो की धर्म संसद में साल 1893 में स्वामी विवेकानंद के भाषण ने पूरी दुनिया के सामने भारत को एक मजबूत छवि के साथ पेश किया था.


प्रधानमंत्री ने गुरू गोबिंद सिंह जी की जयंती पर स्मारक सिक्का जारी किया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 13 जनवरी को गुरू गोबिंद सिंह जी की 352वीं जयंती के अवसर पर नई दिल्ली में 350 रुपये का स्मारक सिक्का जारी किया. प्रधानमंत्री ने 5 जनवरी, 2017 को पटना में गुरु गोबिंद सिंह की 350वीं जयंती पर आयोजित समारोह में एक स्मारक डाक टिकट भी जारी किया था. गुरू गोबिंद सिंह सिखों के दसवें गुरू थे.

गुरू गोबिंद सिंह: एक दृष्टि

  • गुरु गोबिन्द सिंह का जन्म 05 जनवरी 1666 को पटना में हुआ था. उनके पिता गुरू तेग बहादुर की मृत्यु के उपरान्त 11 नवम्बर सन 1675 को वे गुरू बने.
  • सन 1699 में बैसाखी के दिन उन्होने खालसा पन्थ की स्थापना की जो सिखों के इतिहास की सबसे महत्वपूर्ण घटना मानी जाती है.
  • गुरू गोबिन्द सिंह ने सिखों की पवित्र ग्रन्थ गुरु ग्रंथ साहिब को पूरा किया तथा उन्हें गुरु रूप में सुशोभित किया.
  • बिचित्र नाटक को उनकी आत्मकथा माना जाता है. यही उनके जीवन के विषय में जानकारी का सबसे महत्वपूर्ण स्रोत है. दसम ग्रन्थ, गुरू गोबिन्द सिंह की कृतियों के संकलन का नाम है.
  • स्वयं इस्लाम न स्वीकारने के कारण 11 नवम्बर 1675 को औरंगजेब ने दिल्ली के चांदनी चौक में सार्वजनिक रूप से उनके पिता गुरु तेग बहादुर का सिर कटवा दिया.

तुलसी गेबार्ड ने अमेरिका में 2020 में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव लड़ने का फैसला किया

अमेरिका की पहली हिंदू सांसद तुलसी गेबार्ड ने अमेरिका में 2020 में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव लड़ने का फैसला किया है. 37 वर्षीय गेर्बड भारतीय मूल की नहीं हैं लेकिन वह हिंदू परिवार से ताल्लुक रखती हैं. उन्होंने हवाई से सीनेटर पद पर काबिज होने के बाद भगवद गीता पर हाथ रखकर शपथ ली थी. वह पहली बार 2011 में प्रतिनिधि सभा में चुनी गई थीं. राजनीति में आने से पहले गेबार्ड अमेरिकी सेना की ओर से 12 महीने के लिए इराक में तैनात रह चुकी हैं.


वर्ष 2024 तक प्रदूषण स्तर 20 से 30 फीसदी घटाने का लक्ष्य

भारत सरकार के पर्यावरण मंत्रालय ने प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिये ‘नेशनल क्लीन एयर प्रोग्राम’ तैयार किया है. इसका मकसद 5 साल के भीतर प्रदूषण रोकने, नियंत्रित करने, निगरानी करने के साथ जागरूकता फैलाना है. मंत्रालय ने इस कार्यक्रम को जारी करके 2024 तक देश में प्रदूषण स्तर को 20 से 30 फीसदी घटाने का लक्ष्य रखा गया है. इस कार्यक्रम की शुरुआत केन्द्रीय पर्यावरण मंत्री डॉ हर्षवर्धन और नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत की उपस्थिति में हुई.


नेपाल सेना प्रमुख पूर्ण चंद्र थापा को भारतीय सेना के जनरल की मानद उपाधि

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 12 जनवरी को नेपाल के सेना प्रमुख जनरल पूर्ण चंद्र थापा को ‘भारतीय सेना के जनरल’ की मानद उपाधि से सम्मानित किया. भारत के साथ लंबे और मैत्रीपूर्ण सहयोग को आगे बढ़ाने में उनके सराहनीय सैन्य कौशल और अथक योगदान के सम्मान में उन्हें यह मानद उपाधि से सम्मानित किया गया है. थापा ने सितंबर 2018 में नेपाल सेना की कमान का कार्यभार संभाला था. 1980 में नेपाली सेना में शामिल हुए थापा भारत में राष्ट्रीय रक्षा कॉलेज और नेपाल के ‘सैन्य कमान एवं स्टाफ कॉलेज’ से ग्रेजुएट हैं. उन्होंने मद्रास विविद्यालय से रक्षा एवं सामरिक अध्ययन में मास्टर की डिग्री भी ली है. नेपाल के सेना प्रमुख जनरल पूर्ण चंद्र थापा 12 से 15 जनवरी, 2019 तक भारत की यात्रा पर हैं.


‘रायसीना डायलॉग’ के चौथे संस्करण का आयोजन

हाल ही में ‘रायसीना डायलॉग’ के चौथे संस्करण का आयोजन नई दिल्ली में किया गया. इसका आयोजन विदेश मंत्रालय और ऑब्जर्वर रिसर्च फाउंडेशन (ORF) द्वारा संयुक्त रूप से किया जाता है. इस डायलॉग में दुनिया के सैकड़ों प्रतिनिधियों ने भाग लिया. रायसीना डायलॉग के 2019 संस्करण की थीम थी ‘ए वर्ल्ड रिऑर्डर: न्यू जियोमेट्री, फ्लुइड पार्टनरशिप एंड अनसर्टेन आउटकम्स’.

क्या है ‘रायसीना डायलॉग’? रायसीना डायलॉग या वार्ता एक बहुपक्षीय सम्मेलन है जो वैश्विक समुदाय के सामने सबसे चुनौतीपूर्ण मुद्दों को संबोधित करने के लिये प्रतिबद्ध है. भारत के विदेश मंत्रालय का मुख्यालय रायसीना पहाड़ी (साउथ ब्लॉक), नई दिल्ली में स्थित है, इसी के नाम पर इसे रायसीना डायलॉग के रूप में जाना जाता है.

GIPC ने रायसीना डायलॉग, 2019 में एक नई नवाचार रणनीति शुरू की: यूनाइटेड स्टेट्स चैंबर ऑफ कॉमर्स के ग्लोबल इनोवेशन पॉलिसी सेंटर (GIPC) ने रायसीना डायलॉग, 2019 में एक नई नवाचार रणनीति शुरू की है. इस पहल का शीर्षक ‘Fair Value for Innovation’ है. यह पहल आर्थिक नवप्रवर्तन की जांच करेगी ताकि सफलता नवाचार को सक्षम करने और अनुसंधान, वकालत, साझेदारी और कार्यक्रमों के माध्यम से भारत और दुनिया भर में नवाचार पूंजी का दोहन करने के अवसरों का पता लगाया जा सके. भारत पहला बाजार है जहां GIPC इस नई नवाचार पहल की शुरुआत कर रहा है.